कॉल सेंटर से लेकर गैंग ऑफ वासेपुर का ‘डेफिनेट’ बनने का सफ़र!

आप सभी ने गैंग ऑफ वासेपुर देखी होगी. जिसमें डेफिनेट का किरदार निभाया था जीशान कादरी ने. जो खुद धनबाद के ही रहने वाले थे. इन्होनें अपनी शुरूआती पढाई झारखंड में धनबाद से ही पूरी की. इसके बाद वो मेरठ चले आए. और मेरठ के दीनदयाल उपाध्याय मैनेजमेंट कॉलेज से बीबीए की पढ़ाई पूरी की. इसके बाद दिल्ली के एक कॉल सेंटर में काम करने लगे.
लेकिन मन में था एक ख्वाब और हाथ में थी 8 पन्नों की एक फिल्म की कहानी. वो कहानी खुद के गांव की ही थी. जिसको लेकर निकल पड़े मुंबई में करियर बनाने. कई सारे डायरेक्टर से मिले पर कुछ काम नहीं बना.
कुछ दिनों बाद अनुराग कश्यप से मिले, जिन्होंने इस आठ पन्ने की इस कहानी में दिलचस्पी दिखाई. जिसके बाद शुरू हुई असल कहानी पर आधारित गैंग ऑफ वासेपुर फिल्म. जिसने भारतीय सिनेमा इतिहास में नया इतिहास लिख दिया. और जीशान कादरी को डेफिनेट बना दिया.

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password